Study Tips for CS Exams- by CS Anand Raghuwanshi

प्यारे छात्रों, जून नजदीक है, इसका मतलब है की परीक्षाएं सर पर हैं, मुझे पता है की ये समय CS जीवन के सबसे महत्वपूर्ण और संघर्षों से भरे होते हैं, आप लोग परीक्षा की तैयारी में लग गए होंगे, खूब मन लगा कर पढ़िए, हम ना केवल आपके कामयाबी की कामना करते हैं अपितु इस cs world में बड़ी सिद्दत से आप का इस्तकबाल करते हैं | मैंने CS exams की तैयारियों पर एक छोटी से टिपण्णी तैयारी की है और इसे आपके बीच प्रस्तुत करते हुए प्रसन्नता का अनुभव कर रहा हूँ ||

आशा करता हूँ, की ये आपके परीक्षा की तैयारियों में मददगार साबित होगी

 

  1. परीक्षा सामग्री (Exam Material),

जिस भी बिषय (Subject) की आप तैयारी या पढाई कर रहे हों उसकी पूरी सामग्री (Material) आपके पास उपलब्ध होनी चाहिए, जैसे की स्मरण पुस्तिका (Note Book), teachers के नोट, अध्ययन सामग्री (study Material), बिगत वर्षों के question Papers, Suggested Answers etc. अगर ये आपके पास नहीं है, तो सही समय पर जुटा लें क्यूंकि अगर पढ़ते समय इनमे से किसी की जरुरत महसूस हुई तो आपका सारा concentration बिगड़ जाएगा और  पढाई में आपकी रूचि ख़त्म हो जायेगी या मुक्कमल तैयारी नहीं हो पाएगी, अतः सबसे पहले study Material को अपने पास जुटा लें |

  1. समय सारणी (Time Table) बनायें

अपने पूरे विषय को एक उपयुक्त समय दें, subject की जटिलता (difficulties) के अनुसार  एक टाइम टेबल बनाये की किस विषय को कितने दिन में पूरा करना है, और हाँ revision के उपयुक्त समय जरुर बचा लें, इससे पूरे subject पर focus मिलेगा और तैयारी अच्छे से हो सकेगी | Time Table Set करते समय इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की हम जिस Subject में काफी कमजोर हो तो उसे जादा वक़्त, फिर साथ में हर Subject के लिए पढने का समय दे और कभी कभी ऐसा भी होता है की हम सिर्फ एक ही विषय पर ज्यादा ध्यान देते है तो बाकी अन्य Subject पीछे रह जाते है ऐसा कदापि नही करना चाहिए |

  1. Teacher’s या Friends से पूछ लें –

अक्सर हम किसी subject को या किसी subject के किसी topic को ठीक से समझ नहीं पाते हैं, इस स्थिति में हम उसे रटने (memorize) की कोसिस करते हैं, लेकिन रटने की क्षमता सबमे नहीं होती, जब हम घर पर पढ़ रहे होते हैं, तो लगता है की सब ठीक है सब याद हो गया है, लेकिन exam hall में अगर एक line भी भूल गए तो उसका उत्तर देना असंभव हो जाता है अतः ऐसी कोई परिस्थिति आये तो आप किसी और से भी सहायता ले सकते हो, दोस्तों से या अपने teacher से पूछ सकते हैं| इस दसा में उन topics की लिस्ट बनाये जो आपको समझ नहीं आ रहा हो और उसको अपने बड़ों से पूछकर अपनी भाषा में एक अलग से नोट बना लें |

  1. जब जादा पढने पर भी Output कम निकले

कुछ students को लगता है की वे पढाई में जादा समय देते हैं लेकिन इससे उनका final output कम निकलता है, और अक्सर वे इसकी तुलना दुसरे students से करते हैं की वे थोडा पढ़कर भी पास कर लेते हैं | इसका सबसे बड़ा कारन होता है भय, पढाई करते समय उनका दिमाक बटा हुवा होता है, पढ़ते बर्तमान में हैं पर सोचते भविष्य के बारे में हैं, future के बारे में जादा सोचने से अक्सर present में cconcentrate करना मुस्किल हो जाता है, so  जिस सब्जेक्ट को पढ़ रहे हो उस समय सिर्फ और सिर्फ उसी के बारे में सोचें, difficult शब्दों या formulas के लिए कोई short cods बनाकर उसे याद करने की कोसिस करें|

  1. शांत वातावरण में पढने की कोसिस करें

पढाई के स्थान चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है, पढाई करते वक़्त आपके आस-पास का वातावरण शांत होना चाहिए, नहीं तो आपका ध्यान अगर थोडा भी बहार की गतिविधियों की तरफ गया तो आपका सारा concentration बिगड़ जाएगा और आपको फिर से पूरा paragraph पढना पड़ेगा | पढाई का स्थान students पर निर्भर करता है, कुछ students घर के कमरे में जादा अछे  से पढ़ लेते हैं, तो कुछ को ग्रुप में या Library में पढना अच्छा लगता है, SO सबसे पहले आपको पढाई के स्थान का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है, एक बात याद रखें दोस्तिबाज़ी के चक्कर में अपने स्थान का चयन बिलकुल ना करें, यदि आपका दोस्त कहे की चलो Library में पढ़ते हैं तो आपको चयन करना होगा, हो सकता है की वहां वो  अच्छे से पढ़ सकता है पर आप नहीं ||

  1. लिखने की कोसिस करें

जिस भी टॉपिक की तैयारी करें उसको अंत में लिखने की कोसिस करें, इससे पता चलेगा की आपकी कितनी तैयारी हुई है, इसके लिए पढ़ते समय अपने पास एक रफ कापी रखें और उसपर पूरा टॉपिक एक बार लिखने की कोसिस करें, बीच बीच में अप खुद प्रशन बनाकर उसे हल करने की कोसिस करें, जितनी बार आप किसी Topic को लिखेंगे, आपकी तैयारी उतनी मुक्कमल होगी

  1. पैटर्न को पहचाने

परीक्षा में जाने के पहले प्रश्न पत्र का पैटर्न अवश्य पता होना चाहिए| हर परीक्षा का एक सेट पैटर्न होता है, और परीक्षा की तैयारी इसी को ध्यान में रखकर करनी चाहिए, यदि हमे परीक्षा का पैटर्न पता होता है तो हमारा काफी समय बच जाता है

यदि हमे पैटर्न पता है तो हमें पता होता है हैं कि कितने short और कितने long प्रश्न पूछे जायेंगे, कितने theory और कितने numerical प्रश्न पूछे जायेंगे | यदि हमे पैटर्न का ज्ञान नही है तो कितनी भी तैयारी क्यों न हो , हमारा परीक्षा में कुछ तो समय अवश्य ही बर्बाद हो जायेगा

 

  1. दुहरायें (Revision)

परीक्षा सुरु होने के कुछ दिन पहले का एक समय चक्र (time period)  बनाये जिसमे पहले से पढ़े हुए बिषय को दुहरायें, इससे अगर कोई टॉपिक भूल गया हो तो वो फिर से याद हो जाता है, कोसिस करें की जादातर लिखकर REVISION करें इससे पता चलता है की किसी टॉपिक को लिखने में आपको कितना समय लगता है इससे आपको परीक्षा के 3 घंटो का सही प्रयोग करना भी आ जाएगा

 

निचे कुछ points दिए गए हैं जिनका अनुसरण करने से परीक्षा में काफी मदद मिल सकती है

  • Motivational & laughter videos देखें सामान्यतयः ये you tube पर मिल जायेंगे |
  • पढ़ते समय mobile phone बंद रखें |
  • पढाई के दौरान थक जाने पर बेड पर लेटकर ऑंखें बंद करके subject को मन में दुहरायें |
  • जिस pen से exam देना है, उससे पहले से ही थोडा सा लिख लें जिससे grip बनी रहे |
  • पर्याप्त नींद लें
  • Flow Chart या table बनाकर formula याद रखें ||
  • exam देते समय कोई भी प्रश्न अधुरा ना छोड़ें कोशिस करें की पुरे प्रश्न पत्र को हल किया जाए
  • परीक्षा देने  जब  भी  जाये  तो  उसे  1 घंटा  पहले  कुछ  भी  न  पढ़े  और  हंसी  मजाक  करें |
  • परीक्षा से  पहले  नींद का पूरा  होना  बहुत  जरुरी  है
  • परीक्षा में आये  सारें  सवाल  को  एक  बार  अच्छे  से   और  ठन्डे  दिमाग  से  पूरा  प्रश्न  पढ़  ले
  • सबसे पहले जो भी प्रश्न आपको आता है, उसे  करे, ना की दुसरे प्रश्न पर समय बर्बाद करें
  • और अंत में, सबसे पहले वो लिखे जो सही हो जिसका मतलब निकलता हो, फट्टा अंतिम उपचार होना चाहिए या कोसिस करें की इसकी जरुरत ही ना पड़े ||

दोस्तों, मेहनत और मुकाम के बीच में संघर्षों की एक बहुत लम्बी दास्तान होती है, जिन्दगी के मकसद को कम ना होने देना, दिलों में जिन्दादिली को बनाये रखना, जिन्दा हो तो चुनौतियाँ तो मिलती रहेगी, देखना ये है की तुम सामना कैसे करते हो, जो लोग सफल हो गए वे बर्तमान हैं आप इस फेहरिस्त के भविष्य हो,  अब जब आपने अपने दिलों में चाह पैदा कर ही ली है तो बस शिद्दत से एक कदम भी बढ़ा दीजिये, क्या होगा गर तुम सफल नहीं हुए तो, निरंतरता का दामन कभी मत छोड़ना, सफलता जरुर मिलेगी, आगे एक बहुत बड़ा संसार आपका इंतजार कर रहा है, तोड़ दो इस अंतिम बाधा को, पुरे मन से, अनवरत, अनिरुद्ध और निष्कंटक, निरास मत होना, हिम्मत मत खोना तुम जरुर सफल होगे || बस खुस रहो, स्वस्थ रहो और ………………keep preparing.

 

मेरी तरफ से सभी student’s को ढेर सारी शुभकामनाएं

…………………… आनंद रघुवंशी   

Author:

CS Anand Raghuwanshi, Partner at Anand Nimesh & Associates, Company Secretaries.

Mr. Anand is a Practicing Company Secretary, based on Delhi and practicing in the area of Corporate Law Compliance & Advisory. He is well-known for his iconic Hindi writing and compositions. He can be reached at vdnext1711@gmail.com, and +91 9868782243. He can be added on Facebook here [Facebook Link]

CS Students who wish seek guidance with respect to exams or Career can contact Mr. Anand.

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *